ट्रेंडिंग

शहीद पति को अंतिम विदाई देने 5 दिन की बेटी के साथ पहुंची यह महिला मेजर, इनके जज्बे और साहस को सलाम

अपने ही परिवार में किसी शख्स को हमेशा के लिए खो देने का दर्द हर किसी को बेहद गमगीन कर देता है। ऐसे में जरा सोचिये कि हमारे देश की सेवा कर रहे जवानों के परिजन के परिजन कैसे इस दौर का सामना करते होंगे। सच में सोच कर ही रूह काँप जाती है. हम यहाँ चैन की नींद सो सकें, इसके लिए हमारे देश के जवान बॉर्डर पर दिन रात हमारी सुरक्षा का जिम्मा सँभालते हैं. दुश्मनों के हमले और कभी किसी अन्य दुर्घटना के कारण शहीद हुए जवानों के परिवार कैसे उस दुख से उबरते हैं, इसका हम अंदाज़ा भी नहीं लगा सकते.

15 फरवरी को मजूली द्वीप के पास भारतीय वायु सेना का एक चॉपर हादसे का शिकार हो गया था जिसमे दो पायलट शहीद हो गए थे, विंग कमांडर दुष्यंत व्यास भी चॉपर में थे।

विंग कमांडर दुष्यंत व्यास के अंतिम संस्कार में उनकी पत्नी मेजर कुमुद डोगरा अपनी 5 दिन की बेटी को गोद में लेकर शामिल हुईं. मेजर कुमुद पूरी यूनिफॉर्म में अपने पति को अंतिम विदाई देने आईं. एक फ़ेसबुक पोस्ट के मुताबिक, शहीद विंग कमांडर अपनी बेटी से मिल भी नहीं पाये थे. उस बच्ची को तो पिता का स्पर्श तक नसीब नहीं हुआ, ये सोचकर ही दिल बैठ जाता है.

घटनास्थल पर किसी ने उनकी नवजात के साथ तस्वीर खींच कर इंटरनेट पर डाल दी, जिसके बाद वह सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने लगी। लोगों ने उनके इस जज्बे और साहस को सलाम करते हुए उसकी जमकर तारीफ की.

Facebook Comments

About the author

ishana

Add Comment

Click here to post a comment

विज्ञापन

सोशल मीडिया पेज से जुड़े

विज्ञापन

Archives